मोरक्को में भीषड़ भूकंप, अब तक 296 लोगों की मौत, PM मोदी ने व्यक्त की संवेदना

मोरक्को में भीषड़ भूकंप, अब तक 296 लोगों की मौत, PM मोदी ने व्यक्त की संवेदना

अफ्रीकी देश मोरक्को में सुबह-सुबह भूकंप ने 296 लोगों की जान ले ली। भूकंप की तीव्रता 6.8 मैग्नीट्यूड बताई जा रही है। रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है। मरने वालों का आकड़ा और बढ़ सकता है।

अफ्रीकी देश मोरक्को में सुबह-सुबह भूकंप ने 296 लोगों की जान ले ली। भूकंप की तीव्रता 6.8 मैग्नीट्यूड बताई जा रही है। रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है। मरने वालों का आकड़ा और बढ़ सकता है। भूकंप का केंद्र मोरक्को के मराकेश शहर से करीब 70 किलोमीटर दूर था।

खबरों के मुताबिक, भूकंप इतना जोरदातर था कि उसका असर मराकेश से करीब 350 किलोमीटर दूर राजधानी रबात में भी महसूस किया गया। भारतीय समय मुताबिक, यहां सुबह के 3:41 बजे भूकंप आया। संयुक्त राज्य भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (यूएसजीएस) के मुताबिक यह 120 सालों में उत्तरी अफ्रीका में आया सबसे शक्तिशाली भूकंप है।

यूएसजीएस ने बताया कि 1900 के बाद से इस इलाके के 500 किमी क्षेत्र में कोई भी एम6 लेवल या इससे बड़ा भूकंप नहीं आया है। यहां एम-5 लेवल के 9 भूकंप ही दर्ज किए गए हैं। वहीं, मराकेश में रहने वाले एक शहरी ब्राहिम हिम्मी ने एजेंसी को बताया कि भूकंप के चलते कई पुरानी इमारतें ढह गईं और उसने पुराने शहर से एक के बाद एक एम्बुलेंस निकलते हुए देखीं।

उन्होंने कहा कि लोग डरे हुए हैं और दूसरे भूकंप की आशंका के चलते घरों से बाहर निकल आए हैं। सोशल मीडिया पर भूकंप से जुड़े हैरान करने वाले फोटो और वीडियो शेयर किए जा रहे हैं। घर ढहने के ज्यादातर मामले पुराने मराकेश शहर में सामने आए हैं। लोगों ने प्रशासन के साथ मिलकर मलबा हटाने का काम शुरू कर दिया है।

स्थानीय खबरों के मुताबिक, बड़े अपकरणों के आने का इंतजार किया जा रहा है। इस शहर में प्रसिद्ध लाल दीवार के कुछ फोटो सोशल मीडिया पर साझा किए गए हैं, जिसमें एक हिस्से में बड़ी दरारें दिखाई दे रही हैं और कुछ हिस्से गिर गए हैं और मलबा सड़क पर पड़ा हुआ है।

मोरक्को में भूकंप से जान गंवाने वाले लोगों के परिवार के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा, “मोरक्को में भूकंप के कारण हुई जानमाल की हानि से अत्यंत दुख हुआ। इस दुखद घड़ी में मेरी संवेदनाएं मोरक्को के उन लोगों के साथ हैं, जिन्होंने अपने प्रियजनों को खोया है। भारत इस कठिन समय में मोरक्को को हर संभव सहायता देने के लिए तैयार है।”

जैसाकि मालूम है कि हाल ही में इसी तरह का विनाशकारी भूकंप तुर्की में आया था, जिसमें 45 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। तुर्की में 6 फरवरी 2023 की सुबह भूकंप के जोरदार झटके महसूस किए गए थे। भूकंप का पहला झटका सुबह 4।17 बजे आया था। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 7.8 मैग्नीट्यूड थी। भूकंप का केंद्र दक्षिणी तुर्की का गाजियांटेप था।