INDIA की बैठक में खड़गे बोले- छापे और गिरफ्तारियां बढ़ेंगी, हमें रहना होगा तैयार

INDIA की मीटिंग में खड़गे बोले- छापे और गिरफ्तारियां बढ़ेंगी, हमें रहना होगा तैयार

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मुंबई में विपक्षी गठबंधन इंडिया की मीटिंग में कहा कि अगले कुछ महीनों में हमारे ऊपर रेड और गिरफ्तारियां बढ़ जाएंगी।

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मुंबई में विपक्षी गठबंधन इंडिया की मीटिंग में कहा कि अगले कुछ महीनों में हमारे ऊपर रेड और गिरफ्तारियां बढ़ जाएंगी। उन्होंने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि हमें और छापों और गिरफ्तारियों के लिए तैयार रहना होगा।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह सरकार बदले की राजनीति कर रही है। इसलिए हम पर छापे डलवाए जा रहे हैं और लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है। खड़गे ने कहा कि हमारी सफलता को इसी से आंका जा सकता है कि प्रधानमंत्री लगातार हम पर ही अटैक कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “हमें आने वाले महीनों में कुछ और हमलों के लिए तैयार रहना चाहिए। इस सरकार की बदले की राजनीति की वजह से छापे और गिरफ्तारियां बढ़ सकती हैं। हमारे गठबंधन की जमीन जितनी मजबूत होगी, उतना ही एजेंसियों का बेजा इस्तेमाल भाजपा की ओर से बढ़ सकता है। इन लोगों ने महाराष्ट्र, राजस्थान और बंगाल में ऐसा ही किया था। यहां तक कि पिछले सप्ताह इन्होंने झारखंड और छत्तीसगढ़ में भी ऐसा करना शुरू कर दिया।”

मल्लिकार्जुन खड़गे ने आगे कहा कि हमारी सफलता यही है कि पटना और बेंगलुरु की मीटिंग के बाद पीएम मोदी लगातार हमले बोल रहे हैं। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी तो अब हमारे गठबंधन पर हमला करते हुए देश के नाम को आतंकी संगठनों से जोड़ने लगे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने हमारे देश के नाम को आतंकी संगठन और गुलामी के प्रतीक से भी जोड़ा।

उन्होंने कहा कि आज तो बुद्धिजीवी, पत्रकार, मिडल क्लास, पिछड़ा समेत सभी वर्ग भाजपा की तानाशाही झेल रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि आज हेट क्राइम चरम पर है। रेप के दोषियों को छोड़ दिया जा रहा है और कूकी महिलाओं पर अत्याचार हो रहे हैं।

खड़गे ने फिर कहा कि भाजपा और आरएसएस ने बीते 9 सालों में जो सांप्रदायिक जहर घोला है। वह अब असर दिखा रहा है। हाल यह है कि ट्रेनों में सफर कर रहे लोगों और स्कूलों में पढ़ने जा रहे छात्रों तक को नहीं छोड़ा जा रहा है। यहां तक कि गैंगरेप के दोषियों को रिहा किया जाता है और फिर उन्हें सम्मानित करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।