तनाव मुक्त रहना है तो ऐसे करें अपने दिन की शुरुआत

तनाव मुक्त रहना है तो ऐसे करें अपने दिन की शुरुआत

सुबह उठना, प्रेश होना, नाश्ते की जगह एक प्रोटीन बार लेना और काम के लिए दरवाज़े से बाहर भागना; दिन की शुरुआत करने के सबसे बुरे तरीकों में से एक है। आप इस बात को माने या न माने, एक तनाव मुक्त दिन की कुंजी है..

सुबह उठना, प्रेश होना, नाश्ते की जगह एक प्रोटीन बार लेना और काम के लिए दरवाज़े से बाहर भागना; दिन की शुरुआत करने के सबसे बुरे तरीकों में से एक है। आप इस बात को माने या न माने, एक तनाव मुक्त दिन की कुंजी है, सुबह की बेहद सरल दिनचर्या, जिसका पालन आप रोजाना आसानी से कर सकें। कुछ ऐसा हो जो आपको पूरी तरह से सही हो। शुरुआत के लिए हम आपको कुछ टिप्स दे रहे हैं, जिन्हें आप अपनी दिनचर्या के रूप में अपना सकते हैं।

मेडिटेशन

दिन की सही शुरुआत करने का एक सबसे बेस्ट तरीक़ा 15-20 मिनट का मेडिटेशन सेशन होता है। ख़ुद को पहचााने और अपने मन से बात करने में यह समय व्यतीत करें, इससे आनेवाले पूरे दिन के लिए आप खुद मानसिक रूप से तैयार कर सकेंगे। आप अपने मेडिटेशन में गहरी सांस लेनेवाले व्यायाम को भी जोड़ सकते हैं। इससे आपको बार-बार गहरी सांस लेने की आदत हो जाएगी और कोई थकाऊ काम करने से पहले एक गहरी लंबी सांस लेगें।

पानी का सेवन

सेहतमंद बने रहने के लिए एक ज़रूरतमंद पहलू है हाइड्रेशन! सुबह के समय कुछ भी खाने-पीने से पहले अपने दिन की शुरुआत एक ग्लास पानी से करें। आप गुनगुना पानी भी ले सकते हैं। अपने पानी में आधा नींबू निचोड़ें या खट्टे फलों के कुछ स्लाइस में डालें और इस तरह आप सुबह में एक फ़्लेवर्ड पानी का आनंद ले सकते हैं।

कॉफी या चाय

कैफीन प्रेमियों, सुबह में थोड़ा समय इन्हें भी दें! एक कॉफी या चाय की एक प्याली दिन पर सर्तक रहने और दिनचर्या पर बने रहने में आपकी मदद करेंगे। साथ ही, यह जल्दी जागने की वजह से होनेवाली इरिटेशन को कम करके अच्छा महसूस करवाएंगे। यदि आप चाय या कॉफ़ी के शौकीन नहीं हैं तो अपने लिए एक स्मूदी तैया कर लें!

स्किनकेयर

एक परफ़ेक्ट मॉर्निंग स्किनकेयर रूटीन की संगति ना केवल आपकी त्वचा के लिए बल्कि आपके दिमाग़ के लिए बढ़िया होता है। यह आपको पूरे दिन की एक कॉन्फ़िडेटभरी तैयारी और सीसे के सामने ख़ुद से प्यार जताने का एक कारगर तरीक़ा है। स्नान करने के बाद सुबह की स्कीन केयर रूटीन को थोड़ा समय दें, और हम शर्त लगा सकते हैं कि इससे आपका मूड बन जाएगा!

स्नूज को कहें न

कई अलार्म सेट करने और पांच मिनट सो लूं की बजाय, एक फ़ाइनल अलार्म सेट करें और इसके बजने के ठीक पांच से दस सेकेंड बाद खुद को बिस्तर से खींच कर बहार ले आएं। यह थोड़ा कठिन होती है, लेकिन फिर यह एक आदत बन जाएगी, जो आनेवाले सालों में आपके स्वास्थ्य और वर्किंग लाइफ़ के लिए फ़ायदेमंद रहेगी।

सकारात्मक सोच

दिनभर के कामों के लिए कुछ सकारात्मक वाक्यों को अपने मन में दोहराएं। यह कुछ भी हो सकता है, जैसे- मैं अपने सभी कार्यों को समय से पूरा करूंगा/कंरूगी या आज मेरा दिन बेहतरीन होगा वगैरह।