तेज प्रताप यादव ने अटल बिहारी वाजपेयी पार्क का नाम बदला, BJP हुई नाराज

तेज प्रताप यादव ने अटल बिहारी वाजपेयी पार्क का नाम बदला, BJP हुई नाराज

बिहार के पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री तेज प्रताप यादव ने पटना के अटल बिहारी वाजपेयी पार्क का नाम बदल दिया है। अब इस पार्क को कोकोनट पार्क के नाम से जाना जाएगा।

बिहार के पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री तेज प्रताप यादव ने पटना के अटल बिहारी वाजपेयी पार्क का नाम बदल दिया है। अब इस पार्क को कोकोनट पार्क के नाम से जाना जाएगा। पटना के कंकड़बाग में स्थित इस पार्क का नाम पहले कोकोनट पार्क था। इसका नाम 2018 में अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर किया गया था। अब तेज प्रताप ने इसका नाम बदलकर कोकोनट पार्क करने का ऐलान किया है।

तेज प्रताप यादव ने सोमवार को भी कई पार्कों का उद्घाटन किया। इसमें कंकड़बाग में चिल्ड्रन पार्क, एलाइजी पार्क, एमआईजी पार्क, शामिल हैं। उन्होंने पटना के कंकड़बाग में मौजूद विद्यापति पार्क, कोकोनट पार्क, जे सेक्टर पूर्वी और पश्चिमी पार्क का भी उद्घाटन किया है।

इसी दौरान वन एवं पर्यावरण मंत्री पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के नाम पर मौजूद अटल पार्क का नाम बदलकर कोकोनट पार्क रख दिया है। एक तरह से देखा जाए तो राजनीतिक रूप से तेज प्रताप यादव का यह कदम हमेशा नाम बदलने की राजनीति करने वाली भाजपा को मुंह चिढ़ाने वाला कदम है।

जाहिर सी बात है भाजपा पूरे मामले को लेकर नाराज होगी। पूरे मामले पर भाजपा का कहना है कि यह बदले की भावना जैसा है। भाजपा के प्रवक्ता अरविंद कुमार सिंह ने नाराजगी भरे लहजे में कहा कि एक तरफ नीतीश कुमार श्रद्धा से अटल बिहारी बाजपेई के समाधि स्थल पर जाकर उनको नमन करते हैं। वहीं, उनकी सरकार के वन एवं पर्यावरण मंत्री तेज प्रताप यादव इस तरह की हरकत करते हैं।

उन्होंने कहा कि अटल पार्क का नाम बदलकर कोकोनट पार्क रखना ठीक नहीं है। राजनीतिक रूप से अलग विचारधारा रखने वाली पार्टियां हो सकती हैं। लेकिन भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेई के नाम पर रखे पार्क का नाम बदलना भारत रत्न का अपमान है। अरविंद सिंह का कहना है कि आरजेडी अब भारत रत्न के अपमान की सीमा तक गिर चुकी है।

बताते चलें कि हाल के दिनों में कई पार्कों का तेज प्रताप यादव ने उद्घाटन किया है। हालांकि, राजधानी में एक भी पार्क नया नहीं बनाया गया है। बल्कि तमाम पुराने पार्को का रंग रोगन करवा कर ही उनका उद्घाटन किया जा रहा है। जिसकी वजह से स्थानीय लोगों में भी नाराजगी है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि तेज प्रताप यादव केवल शिलापट्ट लगवा रहे हैं, पार्कों का उद्घाटन कर रहे हैं, वाहवाही बटोरने की कोशिश कर रहे हैं। दरअसल, यह सभी पार्क पहले से मौजूद हैं। केवल रंग रोगन और पौधा लगाकर तेज प्रताप यादव पार्कों का बस उद्घाटन कर रहे हैं।